AMC

आत्मा प्रबंध समिति के कार्य एवं उत्तरदायित्व :

प्र्रबंध समिति आत्मा की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों की योजना तैयार करने तथा उन्हें कार्यानिवत करने हेतु जिम्मेवार होगी ।

S.No. आत्मा प्रबंध समिति सदस्य :-
1. जिला कृषि पदाधिकारी,पूर्णियाँ अध्यक्ष
2. परियोजना निदेशक,आत्मा,पूर्णियाँ सचिव
3. जिला उधान पदाधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
4. जिला पशुपालन पदाधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
5. जिला गव्य विकास पदाधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
6. जिला मत्स्य पदाधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
7. कार्यक्रम समन्वयक कृषि विज्ञान केन्द्र,पूर्णियाँ सदस्य
8. कनीय पौधा ग्रामीण संरक्षण पदाधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
9. उप कृषि निदेशक,प्रक्षेत्र,पूर्णियाँ सदस्य
10. क्षेत्रीय निदेशक,ए0 आर0र्इ0,पूर्णियाँ सदस्य
11. महाप्रबंधक,जिला उधोग केन्द्र,पूर्णियाँ सदस्य
12. प्रमंडलीय वन अधिकारी,पूर्णियाँ सदस्य
13. कृषक संगठनोंसमूहों के दो प्रतिनिधि सदस्य
14. स्वयं सेवी संस्था के एक प्रतिनिधि , सदस्य

 

आत्मा प्रबंध समिति के कार्य :-

  • जिले के विभिन्न सामाजिक आर्थिक समूहों तथा कृषकों को पेश आ रही समस्याओं विवशताओं की पहचान करने हेतु समय-समय पर भागादारीसहभागी ग्रामीण मूल्याकंन (पी0आर0ए0) करना ।
  • जिले के सामरिक अनुसंधान तथा प्रसार योेजना को एकीकृत रूप में तैयार करना जो लघु या मध्यम अवधि की अनुकूल अनुसंधान के साथ-साथ प्रौधोगिकी वैधीकरण तथा परिष्करण तथा प्रसार की प्राथमिताओं को निर्दिष्ट कर सके । ये प्राथमितायें पी0 आर0ए0 के दौरान प्रतिबिमिबत हुइ्र्र होगी ।
  • वार्षिक कार्य योजना तैयार करना तथा आत्मा शासी परिषद को समीक्षा सम्भावी रूपान्तर एवं स्वीकृति हेतु प्रस्ताव करना ।
  • प्रौधोगिकी प्रसार इकार्इ (टी0डी0यू0) भारत सरकार को लेखा परीक्षण के उद्वेश्य से प्रस्तुत करने के लिए परियोजना लेखों का उचित रख-रखाव करना ।
  • भागीदार लाइन विभाग,क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र,कृषि विज्ञान केन्द्र,गैर सरकारी संस्थाओं एवं निजी क्षे़त्रों की फर्मों के माध्यम से इन वार्षिक कार्य योजनाओं के निष्पादन को समन्वय करना ।
  • प्रखंड स्तर पर समन्यक प्रक्रिया को स्थापित करना जैसे- Ñषि सूचना एवं सलाहकार केन्द्र जो प्रखंड एवं गांव स्तर पर प्रसार करना एवं प्रौधोगिकी हस्तान्तरण की गतिविधियों को एकीकृत करेंगे ।
  • वार्षिक निष्पादन प्रतिवेदन को शासी परिषद को उपलब्ध करना जो विभिन्न अनुसंधान केन्द्र,प्रसार तथा सम्बद्ध लक्ष्यों को उल्लेखित करें जिनका वास्तव में निष्पादन उपलबिधयाँ प्राप्त की गर्इ है ।
  • शासी परिषद से प्राप्त नीति निर्देश,निवेश फैसलों तथा अन्य निर्देशन पर अमल करना एवं शासी परिषद को सचिवालय सुविधा उपलब्ध करना ।
Back to top